क्या है योगी सरकार की ई-पड़ताल योजना, कैसे मिलेगा किसानों को इसका फायदा

क्या है योगी सरकार की ई-पड़ताल योजना, कैसे मिलेगा किसानों को इसका फायदा

प्रदेश एक कृषि प्रधान राज्य है. यहां पर 70 प्रतिशत से अधिक लोग खेती- किसानी कर अपनी आजीविका चलाते हैं. यहां पर किसान पारंपरिक फसलों की खेती करने के साथ- साथ फल, सब्जी और फूलों की भी खेती करते हैं. यही वजह है कि आम, आलू, गन्ना और गेहूं के उत्पादन में उत्तर प्रदेश देश का अव्वल राज्य है. लेकिन इसके बावजूद भी बारिश और सुखाड़ के चलते लाखों हेक्टेयर में लगी फसल बर्बाद हो जाती है, जिससे किसानों को करोड़ों रुपये का नुकसान उठाना पड़ता है. लेकिन अब यूपी के फार्मर्स को फसल नुकसान को लेकर टेंशन लेने की आवश्यकता नहीं है. उन्हें अब समय पर फसल नुकसान का मुआवजा मिल सकेगा
योगी आदित्यनाथ की सरकार किसानों की आय बढ़ाने और सब्सिडी व योजनाओं का लाभ देने के लिए डिजिटल फसल सर्वेक्षण ‘ई-पड़ताल’ शुरू करने जा रही है. इस ई-पड़ताल का मुख्य उदेश्य राज्य में फसलों का आंकड़ा जुटाना है. आखिर सरकार मालूम करना चाहती है कि उसके राज्य में किस फसलों का कितना रकबा है. वहीं, अब प्राकृतिक आपदा से फसलों के नुकसान पहुंचने पर किसानों को समय पर मुआवजा देना आसान हो जाएगा.

54 जिलों में ई- पड़ताल के जरिए सर्वे का काम किया जाएगा
देश में बारिश ने बढ़ाई आम लोगों की मुसीबत, 200 रुपये तक पहुंच सकते हैं टमाटर

योगी सरकार दो फेज में खरीफ फसलों का ई- पड़ताल करेगी. इसके लिए 10 अगस्त से 15 सितंबर तक कैंपेन चलाया जाएगा. ई-पड़ताल के पहले फेज में 21 और दूसरे फेज में 54 जिलों में ई- पड़ताल के जरिए सर्वे का काम किया जाएगा.

Leave a comment

निंबू की खेती भारत में बड़े पैमाने पर की जा रही हैं गर्मियों में किसानों की बल्ले बल्ले, अब हरियाणा के किसानो को मिलेगी जापानी खेती बाड़ी की मशीनें अवाकाडो की खेती है लाखों की कमाई कर रहा है Indainfarmer अदरक चाय में डालकर चाय सुकुन आ जाता है महेंद्रा ट्रेक्टर 10 टाप-कपनी