जूट की खेती से संबंधित विस्तृत जानकारी

जूट की खेती (Jute Cultivation) एक महत्वपूर्ण कृषि धारणा है, जिसे विशेष रूप से जूट की फाइबर के लिए कटाई जाने वाली फसल की खेती के रूप में जाना जाता है।

यह खेती विशेष रूप से दक्षिण एशिया, जैसे कि बांगलादेश, भारत, और पश्चिम बंगाल राज्य (भारत) में अधिकतर क्षेत्रों में प्रचलित है। जूट फाइबर को गुना, बुना, तार, रस्सी, रसाई आदि में उपयोग किया जाता है और इसे लंबे समय तक स्थायी रंग और स्थायीता के साथ रखने की विशेषता होती है।यहां जूट की खेती के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी है:

1. मौसम और माटी: जूट की खेती उच्च तापमान और उच्च आर्द्रता वाले क्षेत्रों में अच्छे रूप से बढ़ती है। यह फसल अधिकतर माटियों में अच्छी तरह से विकसित होती है, जिनमें माटी का अच्छा प्रदर्शन होता है और उच्च मात्रा में मिट्टी में पानी रहता है। जूट की खेती के लिए मुलायम माटी सबसे अच्छी मानी जाती है।

2. बीज उत्पादन:

Leave a comment

निंबू की खेती भारत में बड़े पैमाने पर की जा रही हैं गर्मियों में किसानों की बल्ले बल्ले, अब हरियाणा के किसानो को मिलेगी जापानी खेती बाड़ी की मशीनें अवाकाडो की खेती है लाखों की कमाई कर रहा है Indainfarmer अदरक चाय में डालकर चाय सुकुन आ जाता है महेंद्रा ट्रेक्टर 10 टाप-कपनी